Haryana

कायापलट की तैयारी… बरौदा पर हरियाणा सरकार मेहरबान, करोड़ों की योजनाएं सिरे चढ़ाने का दावा

Bag news

बरौदा उपचुनाव से पहले सरकार ने हलके की कायापलट की तैयारी कर ली है। करोड़ों की परियोजनाओं को बरौदा तक पहुंचा दिया गया है। कृषि मंत्री जेपी दलाल ने शुक्रवार को दावा किया कि बरौदा हलके से इस बार भाजपा का विधायक जीत कर आएगा। उन्होंने कहा कि संयोग से सोनीपत जिले के बरौदा विधानसभा क्षेत्र में तीन कार्यकाल से कांग्रेस का विधायक रहा है, लेकिन लगता है वहां पर जानबूझ कर तत्कालीन सरकार ने विकास कार्य नहीं करवाए।


हालांकि बरौदा के विधायक के निधन के कारण वहां उपचुनाव होने जा रहा है और एक महीने से उन्होंने स्वयं उस विधानसभा क्षेत्र का दौरा किया है। उन्हें जानकारी मिली कि यहां पर विकास कार्यों की काफी कमी है और इस क्षेत्र में पीने के पानी की किल्लत के साथ-साथ जलभराव की समस्या भी है। उन्होंने कहा कि सीएम मनोहर लाल ने स्वयं कड़ा संज्ञान लिया है और सबसे पहले हल्के के छिछड़ाना, बरौदा, निजामपुर, राणा खेड़ी, मबतन, सिकंदरपुर, माजरा, रामगढ़ और माहरा गांवों में छह नए वाटर वर्क्स का निर्माण कार्य करवाने की स्वीकृति प्रदान की।


जय प्रकाश दलाल ने बताया कि मुख्यमंत्री ने बरौदा विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न विकास कार्यों के लिए 271.37 करोड़ रुपये की राशि भी अनुमोदित की है। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में धान की 1121 किस्म की पैदावार अधिक होती है और इस किस्म की सरकारी खरीद नहीं की जाती है। इसलिए सरकार ने इसकी खरीद हैफेड के माध्यम से करवाने का फैसला लिया है।

नया औद्योगिक मॉडल टाउनशिप (आईएमटी) विकसित होगा


कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने पत्रकारों को इस बात की भी जानकारी दी कि निर्माणाधीन दिल्ली-अमृतसर एक्सप्रेसवे इस विधानसभा क्षेत्र से गुजरेगा। इसलिए सरकार ने यह निर्णय लिया है कि नया औद्योगिक मॉडल टाउनशिप (आईएमटी) विकसित किया जाए। इससे निवेश के साथ-साथ स्थानीय युवाओं को रोजगार के अवसर भी उपलब्ध होंगे। दलाल ने कहा कि बरौदा विधानसभा प्रदेश का ऐसा विधानसभा क्षेत्र है, जिसमें कोई शहर नहीं पड़ता और इसके तहत 56 गांव आते हैं।

हैफेड स्थापित करेगा अत्याधुनिक चावल मिल


बरौदा में हैफेड अत्याधुनिक चावल मिल स्थापित करेगा। जिसमें बासमती सहित विभिन्न किस्मों की धान की मिलिंग की जाएगी। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि 12 करोड़ रुपये की लागत से स्थापित होने वाली इस मिल की मिलिंग क्षमता प्रति घंटे 4 मीट्रिक टन होगी। चावल मिल की स्थापना से क्षेत्र के किसानों को उनकी पैदावार के लाभकारी मूल्य मिलेंगे और क्षेत्र के युवाओं को रोजगार मिलेगा।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s