बॉलीवुड

करण जौहर के पुराने एंप्लॉई का आरोप, ‘NCB ने ड्रग्स के झूठे आरोप लगाने पर मजबूर किया’


Bag news –

बॉलीवुड में ड्रग कनेक्शन की जांच कर रहा नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) सुपरफास्ट स्पीड से काम कर रहा है. नामी डायरेक्टर करण जौहर के ऊपर भी जांच की तलवार लटकी है. करण के एक पुराने एंप्लॉई क्षितिज प्रसाद से NCB ने हाल में पूछताछ की थी. क्षितिज धर्मा प्रोडक्शन्स की सहयोगी कंपनी धर्मेटिक एंटरटेनमेंट में एग्जिक्यूटिव प्रोड्यूसर थे. अब क्षितिज ने आरोप लगाया है कि करण जौहर के ऊपर ड्रग कनेक्शन का आरोप लगाने के लिए NCB ने ही उन पर दबाव बनाया था. NCB ने आरोपों से इनकार किया है.

NCB ने क्षितिज को पूछताछ के लिए 25 सितंबर को बुलाया था. 26 सितंबर को गिरफ्तारी की. अब वह 3 अक्टूबर तक कस्टडी में हैं. ‘इंडियन एक्सप्रेस’ की रिपोर्ट के मुताबिक, क्षितिज ने 27 सितंबर रविवार को मुंबई कोर्ट में बयान दर्ज कराया. मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट के सामने. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से. क्षितिज के वकील सतीश मानशिंदे ने आरोप लगाया कि NCB ने क्षितिज को पूछताछ के दौरान अपमानित किया. ब्लैकमेल करने की भी कोशिश की.

और क्या कहा क्षितिज ने?

NCB की पूछताछ के दौरान क्षितिज का बयान मुंबई यूनिट के इंचार्ज समीर वानखेड़े ने रिकॉर्ड किया था. एडवोकेट सतीश मानशिंदे ने आरोप लगाए,

“समीर वानखेड़े ने पूछताछ के दौरान अन्य अधिकारियों के सामने क्षितिज पर दबाव डाला था. कहा था कि वो धर्मा प्रोडक्शन्स से जुड़े रहे हैं, इसलिए करण जौहर और बाकी लोगों पर ये आरोप लगाते हैं कि वे सभी ड्रग्स लेते थे तो उन्हें छोड़ दिया जाएगा. क्षितिज ने दबाव के बावजूद ऐसा करने से मना कर दिया था. वो इसलिए कि वह व्यक्तिगत रूप से किसी को जानते नहीं थे और किसी के ऊपर झूठे आरोप नहीं लगाना चाहते थे.”

मानशिंदे ने आरोप लगाया कि समीर वानखेड़े ने ‘परेशान’ करने के लिए अपना जूता क्षितिज के चेहरे के पास रखा. 48 घंटे की कस्टडी के बाद भी उन्हें परिवारवालों या वकील से बात नहीं करने दी गई. मानशिंदे ने आरोप लगाए,

“समीर वानखेड़े ने क्षितिज से कहा था कि वो किसी को कॉल करना चाहते हैं तो उन्हें उस स्टेटमेंट पर साइन करना होगा, जो उन्होंने तैयार किया है. चाहें तो बाद में उससे पलट भी सकते हैं. क्षितिज को ‘बयान से पलटने’ जैसे टर्म के बारे में पता नहीं था. करीब 50 घंटे की पूछताछ, अपमान और पीड़ा के बाद क्षितिज ने परिवारवालों या वकील से बात करने के लिए मर्ज़ी न होते हुए भी उस स्टेटमेंट पर साइन किए.”

NCB ने आरोप खारिज किए

क्षितिज के इन आरोपों को NCB के डिप्टी DG (साउथ वेस्ट) मुथा अशोक जैन ने खारिज किया. उन्होंने कहा कि पूछताछ पूरी तरह ‘प्रोफेशनल तरीके’ से की गई थी. उन्होंने कहा,

“हम वही कर रहे हैं, जो जांच के दौरान सामने आ रहा है. उसके अलावा किसी और को ज़बरन टारगेट बनाने का हमारा मकसद नहीं है. क्षितिज ने जो आरोप लगाए हैं, वो पूरी तरह से गलत हैं.”

समीर वानखेड़े ने भी अपने ऊपर लगे आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि आरोपी की ओर से इस तरह के आरोप लगाना रुटीन है.

क्षितिज पर क्या आरोप लगे हैं?

क्षितिज नवंबर 2019 में धर्मेटिक एंटरटेनमेंट कंपनी में थे. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, NCB का कहना है कि उनके घर से ‘ इस्तेमाल किया गया गांजा’ मिला था. एजेंसी ने 27 सितंबर को कोर्ट में बताया कि केस के एक अन्य आरोपी अंकुश अर्नेजा ने बयान दिया था कि क्षितिज ने मई और जुलाई के बीच  12 बार गांजा खरीदा था. इसके लिए 3,500 रुपए का पेमेंट किया था. ये रकम बैंक खाते से और कैश में दी गई थी. ये सप्लाई संकेत पटेल के ज़रिए की गई थी. NCB के मुताबिक, क्षितिज ‘अप्रत्यक्ष तौर पर अनुज केशवानी से कनेक्टेड था. अनुज के पास से काफी मात्रा में नशीला पदार्थ जब्त किया गया था’.

वहीं करण जौहर ने भी सोशल मीडिया पर बयान जारी करके कहा है कि वो न तो ड्रग्स लेते हैं और न ही इसके सेवन को बढ़ावा देते हैं.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s