Haryana

दाणा दाणा खरीदांंगै थारा, ध्यान राखियो म्हारा- जेपी दलाल

Bag news –

प्रदेश के कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के मंत्री जयप्रकाश दलाल गोहाना की अनाज मंडी में फसल खरीद का जायजा लेने पहुंचे और खुद फसल को जांचा, सामने खड़े होकर फसल की नमी की जांच करवाई और किसानों की समस्याओं को सुना और समाधान भी किया। बाद में पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि पूर्व की सरकारों ने किसानों की आंखों में केवल धूल झोंकने का काम किया है और किसानों को बहला फुसलाकर उनके वोट हासिल किए हैं,जबकि किसानों की वास्तविक हितैषी भाजपा सरकार है। हम हरियाणा के किसान का एक- एक दाना खरीदेंगे। प्रदेश सरकार ने हैफेड की राइस मिल को स्थापित करने का निर्णय लिया है। इस प्रोजेक्ट के लिए सरकार ने सैद्धांतिक मंजूरी प्रदान कर दी है।


दलाल ने कहा कि प्रदेश में तीनों अध्यादेश लागू होने पर प्रदेश का किसान और अधिक खुशहाल व उन्नत होगा। किसान अपनी मर्जी से अपनी फसल बेच सकेगा। किसान पर किसी प्रकार की कोई पाबंदी नहीं होगी, लेकिन विपक्ष किसानों को बहकाने का काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश व केंद्र की भाजपा सरकार समय-समय पर किसानों के हित की नीतियां व योजनाएं लागू कर रहीं है, यह सब विपक्ष को रास नहीं आ रहा है। उन्होंने कहा है कि अध्यादेशों में किसानों को अपनी फसल बिक्री के लिए छूट दी गई है और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) खत्म नहीं होगा।

उन्होंने कहा कि अनुबंध खेती में ई- रजिस्ट्री में सारा लेखा-जोखा होगा। अनुबंध करने वाला व्यवसायी अपनी शर्तों से भाग नहीं सकेगा। कोई भी व्यवसायी अनुबंध खेती की आड़ में किसानों की जमीन नहीं ले सकेगा। कोई भी व्यवसायी एक बार अधिक धन देकर उसके चुकाने की एवज में किसानों से बंधुआ खेती भी नहीं करा सकेगा। इतना ही नहीं कोई व्यवसायी खेत में यदि ट्यूबवेल व पोली हाउस जैसा ढांचा खड़ा कराता है और यदि वह अनुबंध के बाद निश्चित समय के भीतर उसे नहीं हटाता है, तो किसान उसका मालिक बन जाएगा। मंत्री ने कहा कि इसके अलावा किसानों को नवीनतम खेती की जानकारी मिल सकेगी। उन्होंने कहा कि नए विधेयक कृषि क्षेत्र में केंद्र सरकार का क्रांतिकारी कदम है। देश के किसान के लिए उत्पाद बेचने को अन्य विकल्पों का प्रावधान किया है,जो वास्तव में किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत करने का काम करेगा। देश का किसान सब देख रहा है और यह भलीभांति समझता है कि कौन किसान हितैषी है और कौन नहीं। पहले पूंजीपति किसान का शोषण करता था, इन विधेयकों से किसानों को उस शोषण से मुक्ति मिलेगी। विधेयक लागू होने के बाद किसान की किस्मत बदलने वाली है। कृषि मंत्री ने कहा कि यह किसानों की आर्थिक आजादी के लिए उठाया गया सही कदम है

क्योंकि किसान के उत्पाद बेचने के लिए चार विकल्प दिए गए हैं। किसान स्वयं अपना माल बेचें, उत्पादक संघ बनाकर अपना माल बेचें, किसी व्यवसायी से अनुबंध करके अपना माल बेचें अथवा स्थानीय मंडी में समर्थन मूल्य पर अपना माल बेचें। उन्होंने कहा कि बरोदा हल्के के लोग उपचुनाव में विपक्ष के बहकावे में ना आएं। उपचुनाव में हलके के लोग सरकार के साथ आएं। प्रदेश में भाजपा की सरकार का सवा चार साल का कार्यकाल बचा है। जयप्रकाश दलाल ने कहा कि विकास के मामले में बरोदा के पिछड़ेपन को भाजपा सरकार ही दूर करेगी। बरोदा में विकास का पहिया रुकने नहीं दिया जाएगा। उपचुनाव में हल्के के लोगों ने भी सरकार में अपनी हिस्सेदारी का मन बना लिया है। उन्होंने कहा कि बरोदा के पिछड़ेपन के लिए पहले की सरकारें जिम्मेदार हैं। पहले की सरकारों ने हल्के के विकास की ओर कभी ध्यान नहीं दिया। उन्होंने कहा कि बरोदा हल्के में भाजपा का अपना प्रतिनिधि नहीं था।

इसके बावजूद मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में भाजपा सरकार ने अपने पहले कार्यकाल में ही बिना किसी भेदभाव के बरोदा का विकास करवाया और सैकड़ों युवाओं को बिना किसी भेदभाव के रोजगार दिलवाया। साथ में शमशेर खरकड़ा, इंदरजीत विरमानी व अन्य भाजपा के वरिष्ठ नेता मौजूद रहे।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s