Latest

उपचुनाव के लिए आयोजित की गई एक सभा में बोलते ज्योतिरादित्य सिंधिया

Bag news –


मध्य प्रदेश की 28 सीटों पर उपचुनाव होने वाले हैं. नेतागण ज़ोर-शोर से प्रचार प्रसार में भिड़ गए हैं. कई हिस्सों में रैलियां और सभाएं हो रही हैं. खंडवा ज़िले की मंधाता विधानसभा सीट पर भी उपचुनाव होने वाले हैं. 18 अक्टूबर को बीजेपी ने इस इलाके में सभा की, जिसमें ज्योतिरादित्य सिंधिया भी शामिल हुए और भाषण दिया. नेताओं के भाषण सुनने के लिए इकट्ठे हुए लोगों में 80 बरस का एक बुज़ुर्ग किसान भी था, जिसने भाषण के बीच ही दम तोड़ दिया, हालांकि इसके बाद भी सभा जारी रही. इसे लेकर अब कांग्रेस वाले बीजेपी पर निशाना साध रहे हैं.

बुज़ुर्ग का नाम जीवन सिंह बताया जा रहा है, जिस वक्त बीजेपी के पंढाना के विधायक राम डांगोरे भाषण दे रहे थे, उस वक्त बुज़ुर्ग ने दम तोड़ा. उनकी मौत के बाद आस-पास बैठे लोग अपनी-अपनी सीट से उठ गए और तितर-बितर हो गए. हालांकि नेता भाषण देते रहे. जीवन सिंह बीजेपी के पुराने कार्यकर्ता भी बताए जा रहे हैं. PTI की रिपोर्ट के मुताबिक, मुंडी पुलिस स्टेशन इन-चार्ज अंतिम पवार ने कहा,

“मृत किसान का नाम जीवन सिंह है. ज़िले के चांदपुर गांव के रहने वाले थे. रविवार को मुंडी आए थे जनसभा में शामिल होने के लिए. लेकिन उनकी हालत बिगड़ती गई और कुर्सी पर ही उनकी मौत हो गई. उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर्स ने उन्हें मृत बताया. शुरुआती जांच में पता चला है कि उन्हें हार्ट अटैक आया था.”

सिंधिया ने मौन रखवाया

किसान की मौत के थोड़ी देर बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया भी सभा में पहुंच गए. हालांकि उनके आने से पहले शव को वहां से ले जाया चुका था. सिंधिया को जब हादसे के बारे में पता चला तो उन्होंने किसान को श्रद्धांजलि देते हुए एक मिनट का मौत रखवाया. उसके बाद भाषण शुरू किया. बीजेपी पर सवाल उठाए जा रहे हैं कि कोरोना के खतरे के बीच 80 बरस के बुज़ुर्ग को सभा में कैसे शामिल होने दिया गया.

कांग्रेस ने बीजेपी को ‘बेशर्म’ बताया

कुर्सी पर बैठे बुज़ुर्ग के शव के कुछ वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. कांग्रेस के नेता इन वीडियो को पोस्ट करके बीजेपी पर निशाना साध रहे हैं. बीजेपी पर बेशर्म होने के आरोप लगा रहे हैं. ये सवाल किया जा रहा है कि किसान की मौत के बाद भी बीजेपी वाले भाषण कैसे देते रहे. MP कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा,

“बीजेपी के कार्यक्रम में किसान की मौत, बीजेपी की भाषणबाज़ी फिर भी जारी रही. आज बीजेपी के कार्यक्रम में एक किसान की मौत हो गई लेकिन बीजेपी के बेशर्म नेताओं ने कार्यक्रम नहीं रोका. किसान की लाश पड़ी रही और बेशर्म भाजपाई ताली बचाते रहे. शिवराज जी, जनता से न सही, भगवान से तो डरो.”

Election Rally (2)

कांग्रेस से जुड़े गौरव पंडित ने ट्वीट कर कहा,

“डराने वाला. ज्योतिरादित्य सिंधिया की रैली में एक बुज़ुर्ग किसान की कार्डियक अरेस्ट से मौत हो गई. लेकिन उसे अस्पताल ले जाने और अंतिम प्रयास करने की बजाए, उन्होंने अपनी रैली जारी रखी.”

Election Rally (1)

PTI की रिपोर्ट के मुताबिक, पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के नेता अरुण यादव ने कहा,

“मंधाता विधानसभा सीट में हुई बीजेपी की जनसभा में एक किसान की मौत हो गई और नेता भाषण देते रहे. क्या यही बीजेपी की मानसिकता और मानवता है?”

सिंधिया ने दी सफाई

इन सभी आरोपों के बीच ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्विटर के ज़रिए अपनी बात रखी. उन्होंने कहा,

“कांग्रेसी हमेशा की तरह संवेदनशील मुद्दे पर भी घटिया राजनीति कर रहे हैं. आज इस रैली में मेरे पहुंचने के पहले ही हमारे अन्नदाता की दुखद मृत्यु हो चुकी थी, जिनको तत्काल कार्यकर्ताओं द्वारा अस्पताल भी पहुंचाया गया था. मुझे सभा स्थल पर पहुंचने के बाद जब इस दुखद घटना की जानकारी मिली तो मैंने सबसे पहले वहां हमारे अन्नदाता के लिए मौन रखवा कर श्रद्धांजलि अर्पित की. मेरे लिए राजनीति जन सेवा का माध्यम है और इसका सर्टिफिकेट मुझे कांग्रेस से नहीं चाहिए.”

किसान की मौत के बाद भी बीजेपी की सभा जारी रही, इसे लेकर राजनीति ज़ोरों पर है. ये भी जान लीजिए कि मध्य प्रदेश में 3 नवंबर को उपचुनाव होने जा रहे हैं.

Categories: Latest, National

Tagged as: ,

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s