Health

ज़्यादा मिर्च, मसाला खाते हैं तो पेट में होने वाली जलन को इग्नोर करना खतरनाक हो सकता है


Bag news –

यहां बताई गई बातें, इलाज के तरीके और खुराक की जो सलाह दी जाती है, वो विशेषज्ञों के अनुभव पर आधारित है. किसी भी सलाह को अमल में लाने से पहले अपने डॉक्टर से ज़रूर पूछें. बैैैग न्यूज आपको अपने आप दवाइयां लेने की सलाह नहीं देता.

पेट में अल्सर होने का क्या मतलब होता है? ये क्यों होता है. सबसे पहले तो ये जान लेते हैं.

पेट में अल्सर होने का क्या मतलब है?

इस बारे में हमें बताया हिसार के डॉक्टर विकास बुंदेला ने. वो गैस्ट्रोलॉजिस्ट हैं.

डॉक्टर विकास बुंदेला, गैस्ट्रोलॉजिस्ट, हिस्सार
डॉक्टर विकास बुंदेला, गैस्ट्रोलॉजिस्ट, हिसार

पेट के अल्सर को पेप्टिक अल्सर भी कहते हैं. यह आमतौर पर पेट और डुओडेनम (duodenum यानी छोटी आंत का फर्स्ट पार्ट) के जख्म को बोलते हैं. हमारे पेट और छोटी आंत पर एक प्रोटेक्टिव लेयर होती है जिसे म्यूकस लेयर कहते हैं. ये लेयर एसिड के प्रभाव से बचाती है. कई बार एसिड के ज्यादा होने के चलते ये लेयर क्षतिग्रस्त हो जाती  है. और छोटी आंत में डैमेज हो जाता है.

Peptic Ulcer Disease Drug Pipeline: What You Need to Know
कुछ केसेज़ में अल्सर फट भी सकता है

कारण:

-ज़्यादा मसाला, तला खाना खाने से.

-तनाव व चिंता के कारण एसिड ज्यादा रिलीज होता है.

-कई जीवाणुओं के इन्फ़ेक्शन से भी अल्सर होता है. जैसे हेलिकोबेक्टर पाइलरी (Helicobacter pylori).

-टाइम पर खाना न खाना.

-बीड़ी, सिगरेट पीना.

-दिल की बीमारी वाले खून पतला करने की दवाई लेते हैं, जिनसे पेट में अल्सर हो जाते हैं.

-इस समस्या से पेट में दर्द, बदहज़मी, खट्टी डकार, और जलन होती है.

– यहां तक कि कई बार तो खून की उल्टी भी आ जाती है.

कैसे पता चलेगा आपके पेट में अल्सर है? और इसका क्या इलाज है?

इस बारे में हमें बताया नागपुर केडॉक्टर शंकर झंवर ने. ये भी गैस्ट्रोलॉजिस्ट हैं.

डॉक्टर शंकर झंवर, गैस्ट्रोलॉजिस्ट, नागपुर
डॉक्टर शंकर झंवर, गैस्ट्रोलॉजिस्ट, नागपुर

लक्षण:

-खाने से पहले या खाने के बाद पेट में दर्द और जलन होती है.

-कई बार खाने के बाद पेट भारी महसूस होता है.

-गंभीर केसेज़ में खून की उल्टी या काली शौच भी हो सकती है.

-कुछ केसेज़ में अल्सर फट भी सकता है.

-ऐसे में अचानक बहुत पेट दर्द होता है और पेट फूल जाता है.

-अल्सर का पता लगाने के लिए एंडोस्कोपी की जाती है.

-इसमें कैमरे वाली दूरबीन से डॉक्टर सीधे अल्सर को देख सकते हैं.

-ज़रूरत पड़ने पर अधिक जांच के लिए सैंपल भी ले सकते हैं.

इलाज:

अल्सर का इलाज उसके कारणों पर निर्भर करता है. अगर हेलिकोबेक्टर पाइलरी (Helicobacter pylori) का इन्फ़ेक्शन है तो इसके लिए एंटीबायटिक दवाईयां दी जाती हैं. कुछ और दवाईयां भी हैं जिनसे अल्सर पूरी तरह ठीक हो सकता है. पर गूगल मेडिकेशन या सेल्फ़ मेडिकेशन नहीं करना चाहिए.

You can't ignore stomach ulcer symptoms | Vietnam Times
अचानक बहुत पेट दर्द होता है और पेट फूल जाता है

बचाव:

-नियमित जीवनशैली.

-समय पर सोना, समय पर खाना.

-जंक फ़ूड न खाना.

-डॉक्टर की सलाह के बिना पेनकिलर नहीं लेना.

-तंबाकू, सिगरेट से दूरी.

-संतुलित आहार.

तो इन लक्षणों को इग्नोर मत करिए. सही समय पर मदद लीजिए.

Categories: Health

Tagged as:

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s