National

16 करोड़ से ज़्यादा डाउनलोड वाले आरोग्य सेतु ऐप को लेकर सरकार किस मुसीबत में फंस गई


Bag news –

आरोग्य सेतु. एक ट्रैकिंग ऐप. कोरोना वायरस संक्रमण को जीपीएस से ट्रैक करता है. सरकार ने पिछले कुछ दिनों में इसे बहुत प्रमोट किया था. इतना कि सिर्फ़ गूगल प्ले स्टोर से ही इसके अब तक 10 करोड़ से ज़्यादा डाउनलोड हो चुके हैं. आरोग्य सेतु की वेबसाइट में कुल डाउनलोड की संख्या 16,23,00,000 बताई जा रही है. अब सरकार इस ऐप को लेकर मुसीबत में फंसती नज़र आ रही है. कैसे आइए जानते हैं.

# शो कॉज़ नोटिस

केंद्रीय सूचना आयोग (CIC) ने मंगलवार को सेंट्रल पब्लिक इन्फॉर्मेशन ऑफिसर (CPIO), इलेक्ट्रॉनिक मंत्रालय, राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (NIC) और राष्ट्रीय ई-अभिशासन प्रभाग (NeGD) को कारण बताओ नोटिस जारी किया है. पूछा है कि RTI की धारा 20 के अंतर्गत उन पर जुर्माना क्यों न लगाया जाए.

केंद्रीय सूचना आयोग को पहली नज़र में लगता है कि इन व्यक्तियों, पदों और संस्थानों ने जानकारियों के बहाव में रुकावट पैदा की है और आरोग्य सेतु से जुड़ी एक RTI का बहुत गोल-मोल जवाब दिया है.

आरोग्य सेतु की वेबसाइट में सबसे नीचे स्क्रॉल करें, तो लिखा रहता है-

Content owned, updated and maintained by the MyGov, MeitY. Aarogya Setu Platform is designed, developed and hosted by National Informatics Centre, Ministry of Electronics & Information Technology, Government of India.

मतलब-

सामग्री का स्वामित्व, अद्यतन और रख-रखाव MyGov, MeitY करता है. ‘आरोग्य सेतु’ प्लेटफ़ॉर्म को राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा डिज़ाइन, विकसित और होस्ट किया गया है.

(MeitY मतलब Ministry of Electronics and Information Technology इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय)

गूगल प्ले से इसे डाउनलोड करने जाएंगे, तो वहां पर भी लिखा है कि इसे NIC eGov Mobile Apps ने निर्मित किया है.

इसी को लेकर CIC ने NIC को यह बताने के लिए भी कहा कि जब आरोग्य सेतु वेबसाइट में यह उल्लेख किया गया है कि प्लेटफ़ॉर्म को NIC द्वारा डिज़ाइन, विकसित और होस्ट किया गया है, तो यह कैसे हो सकता है कि उन्हें ऐप के निर्माण के बारे में कोई जानकारी नहीं है? साथ ही CIC ने सवाल किया कि अगर आरोग्य सेतु की वेबसाइट का डोमेन .gov है, तो फिर NIC को इससे जुड़ी कोई जानकरी न हो, ये कैसे हो सकता है?

आयोग ने सीपीआईओ को कहा है कि वो कारण बताओ नोटिस का जवाब देने के लिए 24 नवंबर, 2020 को दोपहर सवा एक बजे आयोग के समक्ष पेश हो.

# शुरुआत कैसे हुई

सौरव दास ने एक RTI डाली थी. पूछा था कि आरोग्य सेतु के ‘कर्ता-धर्ता’ कौन हैं. इस RTI पर मिले जवाब से सौरव संतुष्ट नहीं थे. उन्होंने फिर अदालत में याचिका डाली. कि संबंधित प्राधिकरण यानी एनआईसी, राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस डिवीजन (NeGD) और इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) आरोग्य सेतु ऐप और इसके निर्माण से संबंधित अन्य प्रक्रिया के बारे में जानकारी नहीं दे पाए हैं. साथ ही, यूजर्स का पर्सनल डेटा मिसयूज़ नहीं होगा, इस बारे में ऑडिट देने में किसने इनपुट दिया, RTI के जवाब में ये जानकारी भी नहीं दी गई थी.

आरोग्य सेतु की वेबसाइट
आरोग्य सेतु की वेबसाइट

# सरकार का वर्ज़न

अब सरकार ने इस विवाद को ख़त्म करने के लिए एक औपचारिक स्पष्टीकरण दिया है. कहा है-

आरोग्य सेतु ऐप के संबंध में कोई संदेह नहीं होना चाहिए. इसे भारत सरकार द्वारा पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप मोड में लॉन्च किया गया था.

आरोग्य सेतु ऐप को लगभग 21 दिनों के रिकॉर्ड समय में विकसित किया गया था. ये एक ‘मेड इन इंडिया’ ऐप है, जिसे उद्योग, शिक्षा और सरकारी क्षेत्रों के दिग्गज लोगों के मिलकर बनाया था. अलग-अलग चरणों में इस ऐप के निर्माण और रख-रखाव से जुड़े हुए लोगों का नाम भी सरकार ने सार्वजनिक कर दिए थे. उस दिन, जिस दिन इसे ओपन सोर्स किया गया था. यानी जब इसका ‘कोड’ पब्लिक डोमेन में रिलीज़ किया गया था, ये सारी जानकारियां मीडिया के साथ भी साझा की गई थीं-

आरोग्य सेतु ऐप, एनआईसी ने उद्योग और शिक्षा क्षेत्र के स्वयंसेवकों के साथ मिलकर विकसित किया है.

आरोग्य सेतु ऐप को एकदम पारदर्शी तरीके से विकसित किया गया है. इससे जुड़ी गोपनीयता नीति, नॉलेज शेयरिंग प्रोटोकॉल सहित सभी विवरण और दस्तावेज 11 मई, 2020 को जारी कर दिए गए थे. इन्हें आरोग्य सेतु पोर्टल (aarogyasetu.gov.in) पर अपलोड किया गया है.

आरोग्य सेतु पोर्टल पर ऐप के बारे में सभी विवरण हैं. जैसे- ऐप कैसे काम करता है, COVID अपडेट और किसी को आरोग्य सेतु का उपयोग क्यों करना चाहिए, वग़ैरह.

आरोग्य सेतु ऐप से जुड़े नियमित अपडेट भी सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म और सरकारी पोर्टल्स पर साझा किए गए हैं.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s