Education

क्लास रूम के लेक्चर सीधे ऑनलाइन करेंगे स्कूल, लंच ब्रेक नहीं होगा

Bag news – Rohtak

सोमवार से 9वीं-12वीं के लिए दोबारा से स्कूल खोलने की तैयारियां शुरू हो गई है। सभी सरकारी स्कूल तो खुलेंगे, लेकिन निजी स्कूल संचालक अभी असमंजस में है। कारण, अभिभावकों की स्पष्ट राय ना होना। कहीं 50 फीसदी अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल भेजने के लिए सहमत है तो कहीं 30 प्रतिशत। इस वजह से कुछ निजी स्कूल दिसंबर में स्कूल खोलेंगे तो कुछ करवाचौथ पर्व के कारण 5 नवंबर से स्कूल खोल रहे हैं।

एसओपी के मुताबिक ऑफलाइन-ऑनलाइन दोनों कक्षाओं का प्रावधान है। अब क्लास रूम में चल रहे लेक्चर काे ही लाइव ऑनलाइन किया जाएगा। जो विद्यार्थी स्कूल नहीं आएंगे उनके लिए ये सुविधा रहेगी। इसके अलावा आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए स्कूलों में हर समय डॉक्टर-नर्स रहेंगे। ना ही प्रार्थना सभा होगी और ना ही लंच ब्रेक, तीन घंटे की कक्षा के बाद विद्यार्थियों को घर भेज दिया जाएगा।

लाइव क्लास के लिए वाई-फाई किया स्कूल
एमडीएन पब्लिक स्कूल की प्राचार्या लिली नागपाल ने बताया कि 60 फीसदी अभिभावक मना कर रहे हैं। ऐसी स्थिति में जो विद्यार्थी आएंगे और जो घर पर रहेंगे, उनके लिए ऑफलाइन व ऑनलाइन क्लास का प्रबंध कर दिया है। शिक्षकों पर दोनों कक्षाओं का बोझ ना पड़े, इसे लेकर 9वीं से 12वीं के सभी कक्षा कमरों को वाई-फाई से जोड़ दिया गया है। लाइव क्लास के लिए लेक्चर स्टैंड पर माइक, स्पीकर और कैमरा लगा दिए गए हैं। विद्यार्थी अपने वाहन से ही स्कूल में आएंगे।

30% अभिभावकों ने भरी हां, नहीं खोलेंगे स्कूल
पठानिया पब्लिक स्कूल के संचालक अंशुल पठानिया ने कहा कि मौखिक रूप से 75 प्रतिशत अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल भेजने के लिए तैयार थे, पर जब लिखित में राय मांगी तो 30 फीसदी की ही सहमति मिली है। इसलिए अभी स्कूल खोलने का फैसला नहीं लिया है। संभावना है कि दिसंबर में अभिभावकों के पूर्ण सहमति से स्कूल को खोला जाए।

कक्षा-बस में एक सीट पर एक ही विद्यार्थी बैठेगा
आर्यन ग्लोबल स्कूल की प्राचार्या आरती ओहल्याण ने बताया कि एसओपी के अंतर्गत सभी तैयारी पूरी हो गई है। कक्षा कमरा हो या बस, एक सीट पर एक ही विद्यार्थी को बैठने की अनुमति रहेगी। मास्क के बिना एंट्री नहीं होगी। हर दिन स्कूल बस और गेट पर विद्यार्थी की थर्मल स्कैनिंग होगी। एंट्री और एग्जिट के लिए अलग-अलग गेट बनाए हैं। अभी 14 बसें हैं, छात्र संख्या के अनुसार इन्हें सेनिटाइज करा कर इस्तेमाल किया जाएगा।

कक्षा में 20 से ज्यादा नहीं होंगे विद्यार्थी: डीएवी पब्लिक स्कूल के प्राचार्य हरिकिशोर सिंह ने बताया कि सभी कक्षा कमरों और वाशरूम में 30 सेंसर सेनिटाइजर लगा दिए हैं। एक कक्षा में 20 से ज्यादा विद्यार्थी नहीं होंगे। 5 नवंबर से स्कूल खोलेंगे, क्योंकि दो दिन स्कूल खोलकर दोबारा से करवाचौथ पर्व पर अवकाश करना पड़ेगा। इसलिए यह फैसला लिया है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s