National

डॉक्टर से हाथापाई की, केस दर्ज हुआ तो लोगों ने हाईवे किया जाम

बैग न्यूज़ –

फाइल फोटो

ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर से हाथापाई करने के आरोप में पुलिस ने 16 लोगों के खिलाफ धारा 353, 186 और 294 के तहत केस दर्ज किया है। पुलिस ने खरड़ निवासी बलजिंदर सिंह व मनमीत सिंह को अस्पताल परिसर से ही गिरफ्तार कर लिया। दोनों 2 दिन के पुलिस रिमांड पर हैं।

आरोपी पक्ष क्रिश्चियन कम्युनिटी से संबंधित है जिसके चलते पुलिस कार्रवाई से नाखुश आरोपी पक्ष की मदद के लिए पंजाब भर से क्रिश्चियन कम्यूनिटी के लोग खरड़ में एकत्रित हुए। उन्होंने दर्ज हुई एफआईआर को खारिज करने और पुलिस अधिकारियों को सस्पेंड करने की मांग को लेकर प्रशासन को सूचित किए बिना खरड़ बस स्टैंड के मेन चौराहे पर चंडीगढ़-खरड़ हाईवे पर शाम करीब 4:15 बजे ट्रैफिक जाम कर दिया।

जब तक पुलिस व प्रशासन मौके पर स्थिति को नियंत्रण कर पाता तब तक देर हो चुकी थी। हाईवे पर 5 किमी लंबी वाहनों की लाइन लग गई। एसएसपी के आश्वासन के बाद करीब 2 घंटे बाद जाम खोला गया। प्रदर्शन के चलते खरड़-लुधियाना हाईवे, खरड़- कुराली हाईवे, खरड़-लांडरां हाईवे व खरड़-मोहाली हाईवे पर वाहनों की कतार लग गई। जाम खुलने के बाद करीब डेढ़ घंटे तक ट्रैफिक सुचारू करने में पुलिस को जद्दोजहद करनी पड़ी।

29 अक्टूबर को हुई थी दो गुटों में मारपीट:

खरड़ के स्वराज नगर में क्रिश्चियन कम्युनिटी से संबंधित पास्टर रूपिंदर कौर और रंजीत कौर 29 अक्टूबर की रात अपनी बहन के घर प्रार्थना करने के लिए गई थी। जहां पर पड़ोस में एक पंजाब पुलिस का एएसआई गुरदेव सिंह रहता है। रूपिंदर कौर के अनुसार उक्त एएसआई ने एक्टिवा पार्क करने को लेकर विवाद किया और खुद को एक कांग्रेसी नेता का सुरक्षाकर्मी बताकर धाैंस जमाने लगा।

इन महिलाओं ने आरोप लगाया कि उक्त पुलिसकर्मी ने शराब पी रखी थी और इन लोगों को धर्म परिवर्तन करने वाला बता कर जलील करने लगा। जिसके चलते दोनों गुटों में झगड़ा हो गया। एएसआई व उसके लड़के ने मारपीट शुरू कर दी। इस दौरान घर में मौजूद 3 बच्चों से भी मारपीट की गई। एक की टांग फ्रैक्चर हो गई। मारपीट के दौरान जख्मी हुई महिलाएं व बच्चों को सिविल अस्पताल खरड़ लाया गया।

जहां डॉक्टर ने इनकी जांच की। इस दौरान उक्त पुलिसकर्मी व उसका बेटा भी अस्पताल में इलाज के लिए पहुंच गए। रात को रूपिंदर कौर द्वारा अपने अन्य समर्थकों को अस्पताल में बुला लिया गया। ड्यूटी पर तैनात डॉ. नवजोत के साथ दुर्व्यवहार किया गया।

डॉक्टर को कहा गया कि एएसआई गुरदेव सिंह के शराब के नशे में होने के भी सैंपल लिए जाएं। इनका आरोप था कि डॉक्टर किसी कांग्रेसी मंत्री के दबाव में एएसआई को बचाने की कोशिश कर रहा है। इसी कके चलते डॉ. नवजोत के साथ हाथापाई की गई।

एसएसपी को मौके पर बुलाने की मांग पर अड़े रहे…
जाम की सूचना मिलने पर डीएसपी खरड़ रुपिंदरदीप कौर सोही, एसएचओ सिटी भगवंत सिंह, एसएचओ घडुआं कैलाश बहादुर, सन्नी एन्क्लेव चाैकी इंचार्ज अजय कुमार, ट्रैफिक इंचार्ज कुलवंत सिंह पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। डीएसपी ने लोगों को धरना खत्म करने के लिए कहा।

लेकिन सभी एसएसपी को मौके पर बुलाने की मांग पर अड़े रहे। डीएसपी ने प्रदर्शनकारियों की लीडर के साथ मीटिंग की, लेकिन वह नहीं माने। जिसके बाद एसएसपी मोहाली से फोन पर बात करवाई तो एसएसपी ने निष्पक्ष जांच करने का आश्वासन दिया। जिसके बाद दो घंटे के बाद धरना समाप्त किया गया।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s