Haryana

225 गांवों में इंटरनेट व वाई-फाई की सुविधा शुरू, 288 पंचायतों में केबल का काम पूरा

बैग न्यूज़ – करनाल

गांव में हर व्यक्ति ले सकता है फाइबर कनेक्शन ।

सीएम ने लघु सचिवालय के सभागार से ई चौपाल और गुड़गांव के थ्री लेन यू टर्न फ्लाईओवर का रिमोट का बटन दबाकर शुभारंभ किया। जिले की 288 ग्राम पंचायतों में ऑप्टिकल फाइबर लाइन बिछाने का काम पूरा हो चुका है। जिनमें से 225 ग्राम पंचायतों में इंटरनेट एवं वाईफाई की सुविधा सुचारू रूप से चल पड़ी है। सीएम ने ई-चौपाल के जरिए ग्राम सरपंचों और सीएम ने अटल सेवा केंद्रों पर कार्यरत (विलेज लेवल इंटरप्रेन्योर) वीएलई से ऑनलाइन सीधे संवाद किया।

खास बात यह है कि जिले की 379 ग्राम पंचायतों में भारत नेट एवं वाईफाई चौपाल की सुविधा मिलने से इन गांवों के लोगों को प्रदेश सरकार की 550 स्कीम व सर्विस का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन फार्म भरने की सुविधा सीएससी के माध्यम से अपने घर-गांव में मिल जाएगी। उन्हें ब्लॉक व जिला स्तर पर सरकारी दफ्तरों के चक्कर काटने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

इसके साथ ही गांवों के विकास कार्यों में तेजी आएगी, क्योंकि बीडीपीओ व अन्य अधिकारी वाईफाई के जरिए ग्राम पंचायतों की ऑनलाइन मीटिंग ले सकेंगे और समय-समय आवश्यक सूचनाएं और दिशा-निर्देश ऑनलाइन सीधे पंचायतों को दे सकेंगे। ग्रामीण भी सस्ती दरों पर इंटरनेट व वाईफाई सेवा का लाभ ले सकते हैं।

गांव में हर व्यक्ति ले सकता है फाइबर कनेक्शन

सीएम ने ई-चौपाल के उद्घाटन अवसर पर बताया कि अब करनाल की 382 ग्राम पंचायतों में से 288 पंचायतों में फाइबर ऑप्टिकल केबल बिछाने का कार्य पूरा हो चुका है, जबकि 225 ग्राम पंचायतों में इंटरनेट व वाई-फाई की सुविधा सुचारू रूप से चल पड़ी है। गांव हो या शहर सभी जगह मोबाइल व कंप्यूटर का प्रयोग हो रहा है, अब तो घडिय़ां भी इंटरनेट से कनेक्ट हो गई हैं। दूरसंचार क्रांति से दुनिया में एक-दूसरे से दूरियां खत्म हो गई हैं, कोई भी व्यक्ति घर से देश व दुनिया के किसी कोने में ऑनलाइन बातचीत व संदेश भेज सकता है। उन्होंने कहा कि पहले छोटे-छोटे कामों के लिए व्यक्ति को सरकारी कार्यालयों के चक्कर काटने पड़ते थे, अब इंटरनेट के माध्यम से ऐसे कार्यों का घर बैठे ही लाभ ले सकते हैं। गांव में कोई व्यक्ति यह फाइबर कनेक्शन ले सकता है। इसके चार्जिज भी बहुत जायज हैं। डीसी निशांत कुमार यादव ने बताया कि इसकी खासियत यह है कि वाईफाई यंत्र लगाकर इस सुविधा का लाभ घर के सभी पांच-दस सदस्य भी ले सकते हैं।

नए सरपंचों को नहीं लेना पड़ेगा डेट

सीएम ने सीधे संवाद के अंतर्गत कुटेल के सरपंच संदीप कल्याण, उपलानी के सरपंच पति, रायसन की वीएलई मंजू बाला तथा काछवा के वीएलई से भी कॉमन सर्विस सेंटर और उससे होने वाली आय को लेकर संवाद किया। उन्होंने बताया कि 40 से 50 हजार रुपए तक की मासिक आय हो रही है। गढ़पुर के सरपंच ने बताया कि गांव के 80 लोगों ने निजी कनेक्शन ले लिए हैं। प्राइवेट जॉब करने वाले और कोचिंग क्लासिस अटेंड करने विद्यार्थियों काे इससे अच्छा लाभ मिल रहा है। इसी बीच सीएम ने कहा कि ई पंचायत से पंचायती डेटा के आदान-प्रदान की दिक्कत नहीं रहेगी। नए सरपंचों को पुराने से डेटा नहीं लेना पड़ेगा और न कोई लेकर भाग सकेगा। ई-पंचायत से कोई भी गलती पकड़ में आ जाएगी। मजाकिया लहजे में इस बात पर सीएम के साथ सभी ने ठहाके लगाए।

काछवा में पंचायत ने बताई नेट नहीं चलने की समस्या

सीएम ने वीएलई और सरपंचों से सीधे संवाद किया। उन्होंने उनसे सीएससी पर उनकी उनकी आय के बारे में भी पूछा। उन्होंने सबसे पहले काछवा के वीएलई व सरपंच से संपर्क साधा। जिन्होंने बातचीत में बताया कि उनका तो नेट ही नहीं चल रहा है। सीएम ने जल्द समस्या को देख करने को कहा है। डीसी निशांत कुमार यादव ने बताया कि वाईफाई चौपाल सुविधा से प्रत्येक गांव में पांच सरकारी कार्यालयों को एक साल के लिए फ्री इंटरनेट सुविधा मिलेगी। जिसको यह सुविधा मिलेगी उनमें सरकारी स्कूल, आंगनबाड़ी, सीएचसी/पीएचसी, पशु अस्पताल, पुलिस स्टेशन, ग्राम सचिवालय/चौपाल को चिन्हित किया गया है। ग्राम सचिवालय के 100 मीटर की परिधि में कोई भी नागरिक वाईफाई सुविधा का प्रयोग कर सकता है। सभी पंचायतों को वाईफाई युक्त करने के लिए जोर-शोर से काम चल रहा है। एक कनेक्शन से घर के अन्य व्यक्ति भी लाभ उठा सकते हैं।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s