Haryana

किसानों का आज 12 से 4 बजे तक रोड जाम करने का ऐलान

बैग न्यूज़ – हरियाणा

फाइल फोटो।

तीन कृषि कानूनों के खिलाफ भाकियू व विभिन्न किसान संगठन प्रदेशभर में रोड जाम करेंगे। भाकियू ने गत 27 अक्टूबर को दिल्ली में हुई बैठक के बाद देशभर में रोड जाम करने का ऐलान किया था। इसे देखते हुए पुलिस प्रशासन भी अलर्ट मोड़ पर आ गया। भाकियू की तरफ से मुख्य प्रदर्शन करनाल के रायपुर रोडान में किया जाएगा। इनमें 4 जिलों कुरुक्षेत्र, करनाल, यमुनानगर व अम्बाला के किसान धरना देते हुए रोड जाम करेंगे। इसे देखते हुए करनाल में अर्धसैनिक बलों की 6 कंपनियां और 120 जवान लगाए तैनात किए गए हैं।

भाकियू प्रवक्ता राकेश बैंस ने कहा कि रायपुर रोड़ान के अलावा हिसार में सरसीड, फतेहाबाद में ढाणीगोपाल, सिरसा में सुदूर गढ़ रोड़, ऐलनाबाद में मीठीसरेहा, सिरसा में नत्थू श्री चोपटा, सिरसा में साहूवाला डबवाली रोड, मलकाना रोड टोल प्लाजा रोहतक, पानीपत ब्राह्मण बांस, भिवानी में कलानौर हिसार में बहुअकबरपुर, चौक टीटोली चौक जींद में प्रदर्शन व सड़क जाम करेंगे।

भाकियू प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम चढूनी ने कहा कि सरकार काले कानून पास कर चुकी है। जब तक इन्हें वापस नहीं लेती भाकियू व किसान चुप नहीं बैठेंगे। भाकियू को इन बिलों के विरोध में देश के कई संगठनों का सहयोग मिला है। 5 नवंबर को रोड जाम के बाद किसान 27 को दिल्ली कूच करेंगे। गुरुवार को भाकियू के रोड जाम ऐलान के चलते पुलिस प्रशासन भी अलर्ट हो गया। कुरुक्षेत्र में धारा 144 भी लगाई। किसी भी व्यक्ति को लाठी, डंडे, तलवार, गंडासी, अग्नि शस्त्र व किसी प्रकार के घातक हथियार लेकर चलने तथा खुले पेट्रोल पंप व डीजल की बोतल पर प्रतिबंध लगाया है।

झज्जर में छुछकवास-मांडौठी में किसान करेंगे रोड जाम

अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति ने 5 नवंबर को देशव्यापी जाम किए जाने का दावा किया है। अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के वर्किंग ग्रुप के सदस्य सत्यवान प्रेम सिंह गहलावत और योगेंद्र यादव ने बताया कि हरियाणा के किसान जगह-जगह सड़क रोककर किसान विरोधी कानूनों के खिलाफ रोष व्यक्त करेंगे। किसान संगठन झज्जर में छुछकवास और मांडौठी में दोपहर 12 से 4 बजे के बीच रास्ते बंद करेंगे। वहीं, पुलिस की ओर प्रदर्शन को देखते हुए तैयारी की गई है।

जिलों में किसान संगठनों और पुलिस ने बनाई रणनीति

भाकियू किसान संगठनों के आह्वान पर प्रदेशभर के किसानों को जोड़ा गया है। किसान संगठन देर रात जाम लगाने की रणनीति बनाते रहे। किसान नेताओं का कहना है कि वह तीनों कृषि कानूनों के विरोध में जाम लगाएंगे। सुबह ही इसके लिए जगह का चयन करेंगे। वहीं, पुलिस की ओर से भी जाम की आपाद स्थिति से निपटने के लिए कड़े इंतजामों का दावा किया जा रहा है।

भाकियू ने बदली रणनीति

3 कृषि कानूनों के खिलाफ भाकियू सितंबर से आंदोलन चला रही है। इसमें न केवल किसान, बल्कि दूसरे व्यापारी व आढ़ती संगठनों का भी साथ मिल रहा है। भाकियू ने 5 नवंबर को रोड जाम का ऐलान किया है। किसानों से बकायदा अपील की है कि किसान अपने-अपने जिलों में रोड जाम करें। कुरुक्षेत्र में पहले सड़क जाम करने की रणनीति बनाई थी, लेकिन अब कुरुक्षेत्र के बजाय कार्यकर्ता करनाल में जाम लगाकर प्रदर्शन करेंगे।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s